शुक्रवार, 15 मई 2009

चुटकुले

दो चींटियां एक डिब्बे पर रेंग रही थीं। अचानक एक चींटी डिब्बे को जोर-जोर से काटने लगी। दूसरी ने
पूछा, "ऐसा क्यों कर रही हो?"

पहली चींटी ने कहा, "पढ़ा नहीं तुमने, डिब्बे पर लिखा है, 'यहां काटिए'"।

***


चिड़ियाघर के एक कोने में बैठा चिड़ियाघर का एक आदमी फफक-फफककर रो रहा था।

चिड़ियाघर देखने आए व्यक्ति ने चिड़ियाघर के एक दूसरे कर्मचारी से पूछा--यह क्यों रो रहा है?

कर्मचारी--चिड़ियाघर का हाथी मर गया है।

व्यक्ति--ओह, इसे उस हाथी से बहुत लगाव था क्या?

कर्मचारी--नहीं, हाथी को दफनाने के लिए गड्ढा खोदने का काम इसे मिला है।

***


परीक्षा होल में मास्टरजी--क्यों सौरभ प्रश्न मुश्किल लग रहा है?

सौरभ--प्रश्न तो ठीक है सर, मुश्किल केवल उसका उत्तर लग रहा है।

***


एक भिखारी दूसरे से:- यार तुम्हारा यह नया स्टील का भिक्षापात्र तो बहुत सुंदर है। कितने में लिया?

दूसरा भिखारी:- खरीदा नहीं दोस्त, घर में जो नया टीवी आया है, उसके साथ यह मुफ्त में मिला है।

***

3 Comments:

राजेंद्र माहेश्वरी said...

सबसे अधिक खराब दिन वे हैं जब हम एक बार भी हंंसी के ठहाके नहीं लगाते हैं।

Aish wallpaper said...

आपके चुटकलों का कोई जवाब नहीं....

Dinesh Kumar said...

कमाल के चुटकुले है आपके Hindi Jokes पर भी कृपया पधारें

 

हिन्दी ब्लॉग टिप्सः तीन कॉलम वाली टेम्पलेट